12th Plan

एक प्रमुख वैश्विक कंपनी के मुख्य कार्याधिकारी ने एक बार कहा था कि जब भी उन्होंने भारतीय लोगों पर दाव लगाया तो उनका दावा कारगर सिद्घ हुआ लेकिन जब भी भारतीय बाजारों के बारे में उन्होंने वही रुख अपनाया, तो उन्हें वैसा नतीजा हासिल नहीं हो पाया। कुछ वर्ष पश्चात उन्होंने कहा कि यहां तक कि भारतीय बाजारों को लेकर भी उनके दाव दुरुस्त होते जा रहे हैं लेकिन अभी भी सरकार पर दाव लगाना सही विचार नहीं है। आर्थिक सुधारों का सूत्रपात हुए बीस वर्ष बीत चुके हैं लेकिन यह बात अभी भी कमोबेश वैसी ही है।

Category: